उत्तराखण्ड पर्यटन रुद्रप्रयाग

सेलिब्रेशन के नाम पर हुड़दंग मचाने वालों पर रखी जायेगी नजर : सीओ प्रबोध घिल्ड़ियाल

रुद्रप्रयाग। नवनियुक्त पुलिस उपाधीक्षक प्रबोध कुमार घिल्ड़ियाल ने थाना अगस्त्यमुनि का आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि नववर्ष के दृष्टिगत सेलिब्रेशन के नाम पर हुड़दंग एवं उत्पात मचाने वालोें को किसी भी दशा में नहीं बख्शा जाना चाहिए। साथ ही उन्होंने कानून एवं शान्ति व्यवस्था को बनाये रखने के निर्देश पुलिस कर्मचारियों को दिए।

पुलिस अधीक्षक ने थाना अगस्त्यमुनि परिसर, भवन, कार्यालय तथा आवासीय काॅलोनी का भ्रमण करते हुए निरीक्षण किया। इस अवसर पर उन्होंने उपस्थित थानाध्यक्ष को कार्यालयी अभिलेख सही ढंग से रखे जाने व साफ-सफाई सही ढंग से किये जाने को कहा। उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा सामान्य निर्वाचन के दृष्टिगत पुलिस क्षेत्रान्तर्गत एवं राजस्व क्षेत्रान्तर्गत के शस्त्रों को जमा करवाए जांए। साथ ही उन्होंने निरोधात्मक कार्यवाही पर भी जोर दिया। पुलिस मुख्यालय की अपेक्षा के क्रम में संदिग्धों एवं बाहरी व्यक्तियों का वृहद सत्यापन किये जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार के कार्य को गुणवत्तापूर्वक किया जाय। इस दौरान उन्होंने थाने में नियुक्त स्टाॅफ के साथ परिचयात्मक गोष्ठी ली और थानाध्यक्ष से कहा कि सर्दी के दृष्टिगत थाना परिसर में अलाव की व्यवस्था की जाय। इसके लिए स्थानीय नगर पंचायत एवं वन विभाग से आवश्यक समन्वय स्थापित करते हुए जलौनी लकड़ियों की व्यवस्था करायी जाय। ठंड के मौसम में चोरी की घटनाओं में वृद्धि होने के दृष्टिगत नियमित रूप से रात्रि गश्त की जाए और थाना क्षेत्रान्तर्गत लगे सीसीटीवी कैमरों की निरन्तर मॉनीटरिंग की जाए।

उन्होंने कहा कि आगामी नववर्ष के दृष्टिगत सेलिब्रेशन के नाम पर हुड़दंग एवं उत्पात मचाने वालोें को किसी भी दशा में न बख्शा जाए। पुलिस का कार्य कानून एवं शान्ति व्यवस्था को बनाये रखना है। इस कार्य को पूर्ण लगन एवं ईमानदारी से किया जाए। सीओ ने कहा कि जनता के साथ सौम्य एवं मधुर व्यवहार अपनाया जाए। कोविड के नये वैरियेन्ट से बचाव के दृष्टिगत कोविड अनुरूप व्यवहारों का पालन किये जाने तथा स्थानीय जनमानस से भी पालन किये जाने की अपील किये जाने के लिए निर्देशित किया। इसके बाद सीओ ने थाना अगस्त्यमुनि के निकटवर्ती विद्यालयों का भ्रमण किया। आगामी विधानसभा सामान्य निर्वाचन की शान्ति व्यवस्था ड्यूटियों के लिए अत्यधिक पुलिस बल का आवागमन प्रस्तावित है। ऐसे में पुलिस कार्मिकों के रहने की उचित व्यवस्था को लेकर विद्यालय एवं अन्य स्थलों का चयन समय से किया जाना आवश्यक है, ताकि पुलिस बल को वहां पर ठहराया जा सके। इस अवसर पर संबंंिधत विद्यालयों के प्रधानाचार्यों से भी वार्ता कर आवश्यक सहयोग दिए जाने की अपील की गई।

Add Comment

Click here to post a comment

Featured

error: Content is protected !!