रुद्रप्रयाग

क्या भाजपा खेल पायेगी केदारनाथ सीट पर मास्टरस्ट्रोक,वहीं कांग्रेस की नजर फिर एक बार साइलेंट मोड में जीत की हैट्रिक पर,क्या जनता इस बार निर्दलीय प्रत्याशी या अन्य को भेजेगी विधानसभा


केदारनाथ/रुद्रप्रयाग:भाजपा के लिए इस बार केदारनाथ विधानसभा सीट किसी करो या मरो वाली स्थिति से कम नहीं होने वाली है।केदारनाथ सीट पिछले दो विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के पाले में गई है।जहाँ कांग्रेस से विधायक मनोज रावत हैं।भाजपा की बात की जाय तो टिकट के उम्मीदवारों की लिस्ट काफी लंबी-चौड़ी दिख रही है।अब देखने वाले बात यह है कि भाजपा किसे मास्टरस्ट्रोक के तौर पर केदारनाथ विधानसभा से टिकट देती है।तो वहीं उम्मीदवारों ने भी अब संघठन से लेकर वरिष्ठ पार्टी पदाधिकारियों से भेंट करना शुरू कर दिया है।केदारनाथ विधानसभा की बात करें तो यह सीट इस बार पूरे विधानसभा चुनावों में हॉट सीट से कम नहीं है।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लगातार केदारनाथ आने को लेकर भी यह सीट पहले से काफी चर्चाओं में रही है।साथ ही इस बार भाजपा से टिकट उम्मीदवारों की संख्या बढ़ने के बाद पार्टी के कार्यकर्ताओं के लिये भी असमंजस की स्थिति पैदा हो गई है।


केदारनाथ सीट पिछले दोनों (2012&2017)विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के पाले में जाने पर इस बार कांग्रेस फिर मजबूती से हैट्रिक लगाने की कोशिश कर रही है।विधायक मनोज रावत ने भी अपने कार्यकाल के अंतिम समय मे क्षेत्र में हाथ आजमाते हुए जनता के बीच काफी सुर्खियां बटोरी हैं।विधायक मनोज रावत की बात करें तो जनता के बीच हाल ही में उनकी विधायक निधि जनता के बीच तालियों की सौगात साबित हुई है।तो वहीं भाजपा ने मनोज रावत पर अपनी विधायक निधि कम खर्च न करने वाले विधायकों में उन्हें शामिल करते हुए ढीला विधायक बताया है।

निर्दलीय प्रत्याशी की बात करें तो 2017  विधानसभा चुनाव में दूसरे स्थान पर रहे सामाजिक कार्यकर्ता कुलदीप रावत सभी पार्टियों पर वजनदार साबित हो रहे हैं।दूसरे नंबर पर रहने के बावजूद भी कुलदीप रावत क्षेत्र की जनता के बीच लगातार बने रहे हैं।गरीब,जरूरतमंदों के मसीहा कहे जाने वाले कुलदीप रावत सामाजिक कार्यकर्ता होने के साथ ही बिजनेसमेन हैं।समय-समय पर कुलदीप रावत का साथ केदारघाटी के लोंगो के साथ होने से जनता भी उन्हें समर्थन के रूप में आशीर्वाद देती नजर आ रही है।


टिकट को लेकर पार्टी हाईकमान की बात करें तो केदारनाथ सीट पर कांग्रेस से मनोज रावत के नाम पर मुहर लगना तय माना जा रहा है।वहीं भाजपा भी इस बार टिकट को लेकर प्रत्याशीयों के नाम की लिस्ट को देख कर मास्टरस्ट्रोक खेलते हुए नजर आ सकती है।जिसे देखते हुए पार्टी हाईकमान लगातार विचार कर रहे है।भाजपा लगातार दो बार यह सीट हार चुकी है,लेकिन इस बार भाजपा की ओर से कौन प्रत्याशी टिकट लेकर कांग्रेस की जीत की हैट्रिक रोकेगा ये देखने वाली बात होगी।
आपको बता दें केदारनाथ विधानसभा सीट पर इस बार भाजपा की ओर से करीब 10 से ज्यादा लोंगो की दावेदारी सामने आ रही है।जिससे पार्टी हाईकमान और संघठन के बीच सोचनीय स्थिति पैदा हो गई है।अभी तक भाजपा की ओर से उम्मीदवारों की लिस्ट की बात करें तो पूर्व विधायक शैलारानी रावत,आशा नौटियाल,पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष चंडी प्रसाद भट्ट,पूर्व राज्यमंत्री अशोक खत्री,दिनेश बगवाड़ी,अजेन्द्र अजय,दिल्ली हाईकोर्ट अधिवक्ता संजय दरमोड़ा,भाजपा जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल,पंकज भट्ट,जयवर्धन कांडपाल,रमेश बेंजवाल,अनूप सेमवाल के अलावा भी कई लोंगो ने पोस्टर बैनरों में व अपने कार्यकर्ताओं के साथ रैली निकालकर जनता के बीच दावेदारी प्रस्तुत की है।गौरतलब बात यह भी है कि पार्टी हाईकमान किसके नाम की मुहर टिकट के लिये जारी करता है जो मास्टरस्ट्रोक लगा कर इस बार कांग्रेस का जीत का रण तोड़ सके।


वहीं भाजपा कांग्रेस को छोड़ अन्य पार्टी व क्षेत्रीय दल की बात करें तो आम आदमी पार्टी की ओर से सुमन्त तिवाड़ी की दावेदारी पक्की मानी जा रही है।तिवाड़ी जिला पंचायत उपाद्यक्ष होने के साथ कांग्रेस को छोड़ आम आदमी पार्टी में शामिल होकर लगातार सामाजिक कार्यों से लेकर क्षेत्र की जनता के बीच चित परिचित बने रहे हैं।वहीं क्षेत्रीय दल उत्तराखंड क्रांति दल की ओर से गजपाल रावत,न्याय धर्म सभा से दिनेश चंद्र सेमवाल,पीपल्स पार्टी ऑफ इंडिया से मनोज तिनसोला के नाम पर मुहर तय मानी जा चुकी है।जबकि निर्दलीय उम्मीदवारों में कुलदीप रावत,देवेश नौटियाल,कुलदीप नेगी समेत अन्य लोग उम्मीदवारी पेश कर रहे हैं।साथ ही बसपा और सपा जैसी पार्टियों का केदारनाथ सीट पर चुनाव अभी लड़ना निर्धारित नही हुआ है। केदारनाथ सीट का हॉट सीट माना जाना सभी की जुबान पर चर्चित बना हुआ है।अब जनता किसे केदारनाथ सीट से विधानसभा भेजती है और बाबा केदार की घाटी में कौन अपना परचम लहराता है यह सब उम्मीदवारों की मेहनत और 10 मार्च को परिणाम सामने पर ही पता चल पायेगा।

Add Comment

Click here to post a comment

Featured

error: Content is protected !!