उत्तराखण्ड रुद्रप्रयाग स्वास्थ्य

बाबा हरदेव सिंह की स्मृति में निःशुल्क नेत्र शिविर का मयाली में किया गया आयोजन,
स्वच्छता एवं वृक्षारोपण कर ग्रामीणों को दिया पर्यावरण का संदेश

शिविर में बोलते हुए जोनल इंचार्ज पीएस चैधरी ने कहा कि कोरोना काल में जब अस्पतालों में आॅक्सीजन की कमी हो गयी थी, तब संत निरंकारी मिशन की ओर से ‘वननेस वन परियोजना’ के तहत देश के साढ़े तीन सौ से भी अधिक स्थानों पर डेढ़ लाख के करीब वृक्ष रोपित किये गये। साथ ही उनकी देखभाल करने के लिए तीन वर्षों तक गोद लेकर उनके पालन पोषण का भी संकल्प लिया गया। इसी महाअभियान को आगे बढ़ाते हुए मिशन के सेवादारों ने बाबा हरदेव सिंह की स्मृति में पचास हजार से अधिक वृक्ष लगाये हैं, जिनकी निरंतर देखभाल भी की जायेगी। ताकि प्रदूषण का स्तर कम किया जा सके और आॅक्सीजन का निर्माण अधिक से अधिक हो सके। कहा कि मनुष्य का जीवन जिस प्राण वायु पर आधारित है, वह हमें इन वृक्षों के माध्यम से ही प्राप्त होती है। कहा कि सन्त निरंकारी मिशन द्वारा प्रति वर्ष स्वच्छता एवं वृक्षारोपण अभियान का आयोजन किया जा रहा है। मानव कल्याण की भलाई के लिए बाबा हरदेव सिंह का यहीं दृष्टिकोण था कि ‘प्रदूषण अंदर हो या बाहर, दोनों ही हानिकारण है। बताया कि सन्त निरंकारी मिशन सदैव ही मानव कल्याण के लिए अग्रणी रहा है, जिनमें मुख्यतः स्वास्थ्य, शिक्षा एवं सशक्तिकरण के लिए सेवाएं दी जा रही हैं। कार्यक्रम में नेत्र सर्जन डाॅ अमित, सहायक डाॅ दिनेश कुमार, चन्द्र प्रकाश शाह, अवतार भारती, देख-रेख में 86 लोगों के नेत्र जांच किए गए। इस अवसर पर मोहन सिंह नेगी, दिलवरी लाल शाह, प्रेमलाल धारकोटी, जगदीश बंगरवाल, रणजीत सिंह रावत, एसएल मिश्रा, वृजमोहन शाह सहित अन्य लोग मौजूद थे।

Featured

error: Content is protected !!