उत्तराखण्ड राजनीति रुद्रप्रयाग

चुनावी हलचलों के बीच रुद्रप्रयाग विस सीट पर भाजपा से भरत सिंह चौधरी को प्रत्याशी बनाये जाने पर चौधरी खेमे में खुशी की लहर

रुद्रप्रयाग/रुद्रप्रयाग विधानसभा सीट से भाजपा की ओर से सिटिंग विधायक भरत सिंह चौधरी पर पार्टी हाईकमान ने विश्वास जताते हुए एक बार पुनः अपना प्रत्याशी बनाया है।सियासी कुर्सी की लड़ाई के साथ भाजपा की ओर से उम्मीदवारों की लिस्ट जहां लम्बी देखी जा रही थी वहीं सिटिंग विधायक चौधरी के नाम पर प्रत्याशी टिकट की मुहर लगने की खबर सुनते ही एक बार फिर चौधरी खेमे में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है।आपको बता दें रुद्रप्रयाग विधानसभा सीट से भाजपा की ओर से उम्मीदवारों की संख्या 10 से भी ऊपर होने के बावजूद पार्टी हाईकमान सिटिंग विधायक पर दुबारा भरोसा जताते हुए अपना प्रत्याशी बनाया है।साथ ही इस खबर के बाजार में फैलने से चौधरी खेमे के लोंगो को बधाई संदेश प्राप्त होने की खबर चारोंओर सुनाई दे रही है और भाजपा कार्यालय में भरत चौधरी को बधाई संदेश देने पहुंच रहे हैं।

विधायक चौधरी के अपने कार्यकाल की बात करें तो विधायक निधि से चौधरी द्वारा विभिन्न विकास कार्यो के लिए 700 से अधिक योजनाओं में 20 करोड से अधिक की धनराशि खर्च बताया गया।, जबकि बीते पांच साल के कार्यकाल में रुद्रप्रयाग विधानसभा क्षेत्र से वंचित गांव को सड़क मार्ग से जोड़ने के लिए राज्य व केंद्र की योजनाओं में 70 सड़कों के लिए तीन सौ करोड़ की धनराशि स्वीकृत कराई गई। वर्ष 2000 से 2017 तक विधानसभा के पचास फीसदी गांव ही सड़क मार्ग से जुड़े थे, जिनको बढ़ाकर 95 फीसदी तक पहुंचाया गया है।विधायक चौधरी ने विधानसभा के सभी हाईस्कूल व इंटर कालेज को ई-लर्निंग सिस्टम से जोड़ने का काम भी किया है। साथ ही विधायक निधि का 52 फीसदी शिक्षा के क्षेत्र में खर्च किया गया है। राज्य व जिला योजना से भी विभिन्न स्कूलों का नवनिर्माण करवाया गया। उच्च शिक्षा में रुद्रप्रयाग के जवाड़ी में महाविद्यालय का निर्माण एवं महाविद्यालय में बीए कक्षाएं का संचालन व बीएससी की मान्यता महाविद्यालय को दिलाना भी एक बेहतरीन कार्य हुआ है स्वास्थ्य के क्षेत्र में जिला चिकित्सालय में विधायक निधि लैप्रोस्कोपिक मशीन लगवाना या अल्ट्रासाउंड मशीन, ब्लड बैंक सहित डायलिसिस मशीन को स्थापित किये जाने के साथ शंकराचार्य माधवाश्रम अस्पताल कोटेश्वर में आक्सीजन प्लांट लगाने का काम भी किया गया।वहीं रुद्रप्रयाग जिला चिकित्सालय की बात करें तो 2017 में तैनात 10 डाक्टरों की अपेक्षा वर्तमान में 25 डाक्टर की वृद्धि होना, दूरस्थ क्षेत्र पूर्वी बांगर, भरदार, रानीगढ, बच्छणस्यूं में संचार नेटवर्क स्थापित किए गए लम्बे समय से लम्बित भरदार क्षेत्र के लिए रौठिया जवाड़ी फेज-1 के लिए 13 करोड स्वीकृत कर कार्य शुरु होना, भरदार पेयजल फेज-2 के लिए 25 करोड की स्वीकृति के साथ ही खेडाखाल-नवासू पेयजल योजना के लिए 20 करोड व तल्लानागपुर क्षेत्र के पेयजल योजना के लिए 40 करोड की स्वीकृति दिलाना और सीएसआर मद से विधानसभा में 60 से अधिक गांव को 2 हजार से अधिक सोलर लाइट से जोड़ने जैसे तमाम कार्य जनता के बीच रहकर किये गए हैं। विधायक चौधरी के कार्यकाल के कामों को देखते हुए देखने वाली बात यह होगी कि रुद्रप्रयाग की जनता क्या एक बार फिर चौधरी पर भरोसा जताएगी ये आने वाली 10 मार्च को परिणाम सामने आने पर पता चलेगा।

Featured

error: Content is protected !!