अन्य उत्तराखण्ड स्वास्थ्य

गढ़वाल के केंद्रबिंदु श्रीनगर में केदारघाटी के रजनीश योगशाला के जरिये दे रहे प्रशिक्षण

रुद्रप्रयाग/आज के दौर में जहां हर युवा पढ़ लिख कर डिग्री हाथ मे लिये नौकरी की तलाश में है।ऐसे में नौकरी की रूपरेखा तैयार करना हर युवा के लिए साबित करना मुश्किल हो जाता है।ऐसे में युवाओं के लिए उम्र के साथ जरूरतों को पूरा करने की कई कठिनाई सामने आ जाती हैं जब डिग्री हाथ मे हो लेकिन नौकरी नहीं। जी हां हम बात कर रहे हैं एक ऐसे युवा की जिसने योग में डिप्लोमा की डिग्री लेकर आज अपनी योगशाला के माध्यम से श्रीनगर गढ़वाल में प्रशिक्षण देने का काम शुरू किया है।रजनीश अवस्थी मुख्य रूप से
केदारघाटी के लमगौन्डी गांव के रहने वाले हैं।जिन्होने 2019 में योग की डिप्लोमा डिग्री प्राप्त की।डिग्री प्राप्त करने के बाद रजनीश ने अपना खुद का सेटअप तैयार करने की सोची।आज उसी सेटअप के जरिये वह श्रीनगर गढ़वाल के लोंगो के बीच अपना योग प्रशिक्षण दे रहे हैं।जिससे वह अच्छी खासी इनकम कमा कर अपनी जरूरत के साथ खर्चा अर्जित कर रहे हैं।

रजनीश का कहना है कि उन्होंने जब 2019 में योग में डिप्लोमा की डिग्री हासिल की उसके बाद उन्होंने ऋषिकेश जा कर योग की अहम कड़ियाँ मजबूत करने की प्रशिक्षण प्रक्रिया पूर्ण की।उसके बाद उन्होंने 2021 में श्रीनगर गढ़वाल में आ कर खुद का योग प्रशिक्षण योगशाला को सुचारू रूप से चलाने में सक्षम रहे हैं।उन्होंने देखा कि श्रीनगर गढ़वाल जैसे शहर जहां तमाम जिलों से बच्चे गढ़वाल यूनिवर्सिटी में पढ़ने आते हैं लेकिन फिर भी यहाँ योग के प्रति लोंगो में कोई सजगता नही है।रजनीश के प्रण और मेहनत से उन्होंने खुद योगशाला को शुरू करने की कोशिश की।रजनीश का कहना है कि गढ़वाल के केंद्र बिंदु श्रीनगर गढ़वाल में आज तक कोई योगा सेंटर नही था जिससे योग की डिग्री प्राप्त करके हर बच्चे को दूसरे शहरों की ओर ट्रेनिंग लेने के लिए रुख करना पड़ता था लेकिन जब से रजनीश ने खुद का योगशाला ट्रेनिंग सेंटर खोला तब से लोगों के बीच एक नया माध्यम स्थापित हुआ है।योग के प्रति लोग पहले से तो सजग थे ही परन्तु उन्हें माध्यम नही मिल पा रहा था।


आज के समय मे ऐसे भी लोग हैं जिन पर बीमारी इस तरीके से हावी हो चुकी है जो सिर्फ और सिर्फ योग करने से ही खुद को स्वस्थ महसूस कर रहे हैं।रजनीश का कहना है कि उनके योगशाला में कुछ बच्चे डिग्री प्राप्त करके ट्रेनिग लेने आते हैं तो कई लोग ऐसे भी आतें हैं जिन्हें डॉक्टर की सलाह भी दी गई है कि योग से ही जीवन स्वस्थ है।रजनीश योगशाला के ऑनर रजनीश अवस्थी का कहना है कि बहुत सारे लोग उनके द्वारा दिये गए प्रशिक्षण से स्वस्थ हो कर घर गए हैं जिन्होंने रजनीश की योगशाला को धन्यवाद भी किया है।वर्तमान में योगशाला में करीब दो दर्जन से अधिक बच्चे पहुंच रहे हैं साथ ही शहर के लोंगो में योग की इस अहम पहल को लेकर जागरूकता भी देखी जा रही है।

Featured

error: Content is protected !!